नए लाइसेंस का आवेदन

विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं

वाहन चालक लाइसेंस (ड्राइविंग लाईसेंस) एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। यह न केवल भारत में वाहन चालन के लिए आवश्यक है अपितु यह एक पहचान पत्र के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है।

वाहन चालक लाइसेंस प्राप्त करने के लिये आवश्यक समस्त जानकारी हमने एकत्रित की है। लाइसेंस के लिेए आवश्यक दस्तावेज एवं आवेदन की प्रक्रिया को भी यहां सूचीबद्ध किया है। हम इस जानकारी का बदलते नियमों के अनुसार समय-समय पर अद्यतनीकरण करते रहते हैं।

नवीन वाहन चालक (युवक या प्रोढ़), एक राज्य से दूसरे में जाकर रहना, लाईसेंस का खो जाना जैसी परिस्थितियों में हमें विशिष्ट जानकारी की आवश्यकता होती है। हमने वह समस्त जानकारी यहां सरल भाषा में प्रदान की है, अतः आपको यहां-वहां भटकने के झंझट से मुक्ति मिल सके।

वाहनों के प्रकार


भारत में वाहनों को उनके आकार एवं उपयोग के आधार पर विभिन्न श्रेणियों में वर्गीकृत किया जाता है। एक व्यक्ति को किस प्रकार के वाहनों को चलाने की अनुमति है उसका उल्लेख ड्राइविंग लाइसेंस पर होता है। अतः ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने से पहले वाहनों के प्रकार के बारे में ज्ञान होना आवश्यक है।

परिवहन विभाग ने वाहनों को निम्न प्रकार की श्रेणियों में वर्गिक्रत किया है।

  • बिना गियर वाली मोटर साइकिल
  • गियर वाली मोटर साइकिल
  • हल्के मोटर वाहन (गैर परिवहन) - व्यक्तिगत प्रयोग वाली मोटरसाइकिल, जीप, टैक्सी, वितरण वैन इत्यादि
  • सड़क बेलन (रोड रोलर)
  • विकलांग व्यक्तियों द्वारा प्रयुक्त सभी प्रकार के वाहन
  • परिवहन वाहन - व्यावसायिक उपयोग वाले वाहन, हल्के माल वाहक सहित
  • भारी माल / यात्री वाहक मोटर वाहन, ट्रेलर इत्यादि

वाहन चालक लाइसेंस प्राप्त करने के लिए पात्रता


ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने की पात्रता बहुत सरल है और इसे निम्नलिखित बिन्दुओं में समझाया गया है।

  • स्थायी वाहन चालक लाइसेंस के लिए आवेदक की उम्र १८ वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
    • १६ वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति बिना गियर एवं ५० सीसी तक इंजन क्षमता वाले वाहन चलाने के लिए वाहन चालक लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं।
  • आवेदक वाहन चलाने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • आवेदक को यातायात के सभी नियमों की जानकारी होनी चाहिए।

वाहन चालक लाइसेंस के प्रकार


भारत में २ प्रकार के ड्राइविंग लाइसेंस हैं। इन लाइसेंसों का उद्देश्य, आवेदन प्रक्रिया और आवश्यक दस्तावेजों को यहां पर विस्तरपूर्वक उल्लेख किया गया है।

शिक्षार्थी लाइसेंस (Learning License)


इसे सीखने-वाला लाइसेंस (Learlning / Learner License) भी कहते हैं। यह एक अस्थायी लाइसेंस है और यह केवल ६ महीने तक वैध होता है। प्रत्येक आवेदक को प्रारम्भ में शिक्षार्थी लाइसेंस ही जारी किया जाता है। यह एक व्यक्ति को अन्य लोगों की सहायता से वाहन चलाने की कला सीखने की अनुमति देता है। ६ महीने के बाद यह लाइसेंस अमान्य हो जाता है।

आवश्यक दस्तावेज

सीखनेवाले लाइसेंस के आवेदन के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  • फॉर्म संख्या ३ - वाहन चालक लाइसेंस का आवेदन पत्र
  • पासपोर्ट आकार के पता प्रमाण, पहचान प्रमाण, और पासपोर्ट आकार के छायाचित्र (६)
  • निवास प्रमाण के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज उसकी अभिप्रमाणित प्रतिकृति के साथ चाहिए
    • आधार कार्ड
    • मतदाता कार्ड
    • राशन कार्ड
    • पासपोर्ट
  • आयु प्रमाण के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज
    • शैक्षिक प्रमाण पत्र
    • जन्म प्रमाण पत्र
    • पासपोर्ट
    • यदि आप किसी सरकारी संस्था में कर्मचारी हैं तो वहां का नियोक्ता प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया

आप वाहन चालक लाइसेंस के आवेदन की प्रक्रिया राज्य परिवहन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर शुरू कर सकते हैं। यह वाहन चालक लाइसेंस के आवेदन करने का सबसे आसान और प्रभावी तरीका है। आवेदन की प्रक्रिया प्रारम्भ करने से पहले यह सुनिश्चित करलें कि आपके पास "आवश्यक दस्तावेज" खंड में उल्लिखित सभी आवश्यक दस्तावेज हैं।

  • प्रपत्र नंबर ३ में सभी अनिवार्य जानकारी अर्थात नाम, पता, जन्म तिथि आदि भरें।
  • अन्य आवश्यक दस्तावेज पता प्रमाण पत्र, पहचान प्रमाण पत्र और पासपोर्ट आकार के छायाचित्र जमा करें।
  • प्रपत्र जमा करने के बाद राज्य सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क का भुगतान करें।
  • इसके पश्चात्‌ आपको प्रारंभिक परीक्षण के लिए एक समय दिया जाएगा। परीक्षण के लिए आपको अपने क्षेत्र के परिवहन कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां पहले आपकी दृष्टि की जाँच की जाएगी।
  • प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के उपरांत, आपको सीखने वाला लाइसेंस जारी किया जाएगा।

स्थायी लाइसेंस (Permanent License)


यह एक दीर्घकालिक ड्राइविंग लाइसेंस है। स्थायी लाइसेंस धारक को स्वतंत्र रूप से वाहन चलाने की अनुमति देता है। शिक्षार्थी ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की तिथि से ३० दिनों के बाद आप स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं। स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन शिक्षार्थी लाइसेंस की समय सीमा (१८० दिन) समाप्त होने से पहले  करना होता है।

आवश्यक दस्तावेज

स्थायी वाहन चालक लाइसेंस के आवेदन के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आवश्यक होते हैं।

  • आवेदन प्रपत्र नंबर ४
  • पासपोर्ट आकार का १ छायाचित्र
  • मान्य सीखनेवाला लाइसेंस

आवेदन की प्रक्रिया

स्थायी वाहन चालक लाइसेंस के लिए आवेदन करने की पूर्ण प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  • राज्य परिवहन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • "नियुक्ति कड़ी" (Online Appointment and Payment for Driving License) पर क्लिक करें।
  • अगले पृष्ठ पर 'दिल्ली' चुनें और "अपनी नियुक्ति बुक करें" (Appointment Slot Booking) पर जाएं।
  • ब्राउज़र में नई खुली हुई खिड़की पर - नियुक्ति के लिए जानकारी भरें।
  • प्रपत्र जमा करने के बाद, आपको एक संदर्भ संख्या मिल जाएगी। इस संख्या को लिख लें और ई-पेमेंट विकल्प के लिए आगे बढ़ें।
  • भुगतान पृष्ठ में, आप नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं।
  • अपनी रसीद को मुद्रित करलें।
  • मिलने के निश्चित तिथि व समय पर अपने निकटतम आंचलिक कार्यालय में जाएं। और सभी मूल दस्तावेज़ और अनुप्रमाणित प्रतिलिपि अवश्य साथ ले जाए।
  • वहां अधिकारी सभी दस्तावेजों की जांच करेंगे।
  • इसके उपरांत, अधिकारी आपका वाहन चालन परीक्षण लेंगे।
  • वाहन चालन परीक्षण में उत्तीर्ण होने पर आपका स्थायी वाहन चालक लाइसेंस आपके आवासीय पते पर डाक द्वारा पहुंचा दिया जाएगा।

वाहन चालक लाइसेंस आवेदन की स्थिति कैसे जांचें?


ड्राइविंग लाइसेंस डाक द्वारा आवेदक के घर भेजा जाता है। आप ड्राइविंग लाइसेंस की स्थिति ऑनलाइन निम्नलिखित विधि से देख सकते हैं।

  • राज्य परिवहन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • "Track delivery status for DL” पर क्लिक करें।
  • अगले पृष्ठ पर, अपनी क्षेत्र संख्या चुनें, अपनी रसीद संख्या डालें और खोज बटन दबाएँ। यह आपको आपके वाहन चालक लाइसेंस आवेदन की वर्तमान स्थिति बताएगा।

लाइसेंस करने में होने वाली समस्याओं से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु


वाहन चालक लाइसेंस के लिए आवेदन करते समय निम्नलिखित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर अवश्य विचार करें।

  • ऑनलाइन आवेदन करने से पहले, सभी दस्तावेज एकत्रित करके जाँच लें।
  • ऑनलाइन परीक्षा में जाने से पहले यातायात के नियमों और विनियमों को सीख लें।
  • परीक्षा स्थल पर समय से पहले पहुंचे।
  • यदि आपने २-पहिया वाहन के स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन किया है तो हैलमेट पहनना ना भूलें।
  • यदि आपने ४-पहिया वाहन के स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन किया है तो सीट बेल्ट लगाना न भूलें।
  • शराब पी के वाहन चलाने जैसी बुरी आदतों एवं सामान्य गलतियों से अवश्य बचें।

 

 

 

शब्द ज्ञान

अपशेष (संज्ञा)

अर्थ:- वह पदार्थ जिसे अनुपयोगी समझकर फेंक दिया जाता है।

उदाहरण:- कारखानों के अपशेष नदियों आदि के जल को प्रदूषित करते हैं।