ई-चालान

विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं

e-challanयातायात पुलिस परिवहन सेवाओं के सुचारू संचालन के लिए भारत की सड़कों पर यातायात को नियंत्रित एवम् उसकी निगरानी करती है। यातायात में किसी भी प्कार की बाधा या सम्भावित दुर्घटना को रोकने के लिए वह आवश्यक कार्रवाई करते हैं। वाहन चालकों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने या लोगों के लिए खतरा पैदा करने पर, यातायात पुलिस उल्लंघनकर्ताओं को चालान जारी कर सकती है।

इंटरनेट तथा आधुनिक उपकरणों के आगमन के साथ चालान जारी करने की प्रक्रिया भी बदल गई है। धीरे-धीरे यातायात पुलिस नियमों का उल्लंघन के लिए ई-चालान जारी करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। पुरानी पद्धति में चालान एक-दूसरे से पृथक होते थे लेकिन ई-चालान के साथ सभी ट्रैफ़िक उल्लंघन केंद्रीयकृत प्रणाली में अंकित किए जाते हैं। यह प्रणाली निकट भविष्य में बारंबार उल्लंघन करने वालों के ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द करने की दिशा में ले जाएगी।

ई-चालान क्या है और इसे कौन जारी कर सकता है?


किसी यातायात नियम का उल्लंघन करने वाले वाहन चालक को इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का उपयोग करके जारी किये गऐ चालान को ई-चालान कहते हैं। यह एक यातायात पुलिस कर्मी द्वारा हैंडहेल्ड उपकरण के माध्यम से या सीसीटीवी सक्षम "इलेक्ट्रॉनिक चालान प्रणाली" द्वारा जारी किया जा सकता है। ई-चालान के बारे में जानकारी केंद्रीकृत प्रणाली में अंकित की जाती है जिसमें देशव्यापी चालानों के अभिलेख होते हैं। ई-चालान में वाहन, चालक, उल्लंघन का स्थान, उल्लंघन का प्रकार और चालक या वाहन स्वामी द्वारा उठाए जाने वाले अगले कदमों के बारे में बुनियादी जानकारी होती है।

यातायात पुलिस अधिकारीकेंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम १९८८ का पालन करते हुए चालान काट सकता है। इस विषय में हाईवे पुलिस को भी यातायात पुलिस की तरह ही हाईवे पर नियमों का उल्लंघन करने पर चालान काटने का अधिकार है। इनके पास एक इ-चालान एप होता है जो सारथी और वाहन पोर्टल से जुड़ा होता है, जिस से चालान की परिक्रिया केंद्रीकृत और स्वचालित बन जाती है।

ध्यान रखें - यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन को अस्थायी रूप से जब्त भी किया जा सकता है।

ई-चालान का सत्यापन और भुगतान


e-challan detailsआप इंटरनेट और कंप्यूटर की सहायता से ई-चालान का सत्यापन और भुगतान ऑनलाइन कर सकते हैं। ई-चालान के बारे में सूचना एस॰एम॰एस॰ द्वारा दी जाती है, जिसमें घटना का समय, स्थान, प्रकार इत्यादि की जानकारी होती है। इ-चालान का सत्यापन इ-चालान वेबसाइट पर की जा सकती है, इसके लिऐ चित्र में प्रदर्शित आवश्यक प्रदान करनी होती है।

डेबिट, क्रेडिट कार्ड या फिर नेट बैंकिंग का उपयोग करके आप ई-चालान के अर्थदंड का भुगतान कर सकते हैं। कई ई-वॉलेट कम्पनियाँ भी ई-चालान का भुगतान करने की सुविधा प्रदान करती हैं।

ई-चालान की प्रक्रिया में नागरिक के अधिकार


ई-चालान में नागरिक के अधिकार साधारण चालान की तरह ही होते हैं। इसका वर्णन ट्रैफिक चालान पृष्ठ पर किया गया है।

ई-चालान चालान का प्रतिवाद करें


यदि आपको लगता है कि आपने यातायात नियमों का उलंघन नहीं किया है परन्तु फिर भी आपको चालान जारी किया गया है तो आप इसका प्रतिवाद कर सकते हैं। अपने आप को निर्दोष सिद्ध करने के लिए, न्यायाधीश के समक्ष आवश्यक अभिलेख एवं प्रमाण प्रस्तुत करें और अपनी बात रखें। ई-चालान जारी होने के ३० दिन के अंदर आपको या तो अर्थदंड भरना होगा या फिर चालान का प्रतिवाद करना होगा। ऐसा न करने पर न्यायालय सम्मन जारी कर सकता हैं।

 

 

शब्द ज्ञान

बादला (संज्ञा)

अर्थ:- एक प्रकार का सुनहला या रुपहला चपटा और चमकीला तार।

उदाहरण:- बादला लगे कपड़े महँगे होते हैं।

पर्यायवाची:- कंदला, सलमा