सुरक्षा एवं नियम उल्लंघन

विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं

संसार में सर्वाधिक सड़क दुर्घटनाएं भारत में होती हैं। भारत में सड़क दुर्घटनाओं के कारण प्रतिवर्ष लगभग १,५०,००० मनुष्य मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं।

यातायात के नियमों के उल्लंघन के बारे में जानें। चालान होने की स्तिथि में दंड का भुगतान या यदि आपको लगता है कि आपने किसी भी ट्रैफिक नियम का उल्लंघन नहीं किया है तो उसका प्रतिवाद अथवा न्यायालय से दस्तावेजों को वापस लेने जैसी अनेक जानकारियां यहां से प्राप्त करें।

ध्यान दें:- सड़क सुरक्षा के बारे में विधि एवं नियम शीघ्रता से परिवर्तित हो रहे हैं। आने वाले समय में आपका ड्राइविंग इतिहास बीमा के मूल्य को निर्धारित करेगा। यदि आपके कई चालान कटे हैं तो उच्च बीमा किस्त का भुगतान करने के लिए तैयार रहें।

 

 

शब्द ज्ञान

प्रभु (संज्ञा)

अर्थ:- धर्मग्रंथों द्वारा मान्य वह सर्वोच्च सत्ता जिसे सृष्टि का स्वामी माना जाता है।

उदाहरण:- ईश्वर सर्वव्यापी है । ईश्वर हम सबके रक्षक हैं।

पर्यायवाची:- अंतर्ज्योति, अंतर्यामी, अखिलात्मा, अखिलेश, अखिलेश्वर, अधिपुरुष, अन्तर्ज्योति, अन्तर्यामी, अर्य, अर्य्य, अविनश्वर, अव्यय, अशरीर, आदिकर्ता, आदिकर्त्ता, आदिकारण, इलाही, इश्व, इसर, ईश, ईशान, ईश्वर, ईस, ईसर, ऊपरवाला, करतार, करुण, कर्ता, कर्ता धर्ता, कर्ता-धर्ता, कर्ताधर्ता, कर्तार, कर्त्ता, क़िबला-आलम, क़िबलाआलम, कामद, किबला-आलम, किबलाआलम, ख़ालिक़, खालिक, चिंतामणि, चिदाकाश, चिन्तामणि, चिन्मय, जगत्सेतु, जगदाधार, जगदानंद, जगदीश, जगदीश्वर, जगद्योनि, जगन्नाथ, जगन्नियंता, जगन्नियन्ता, जगन्निवास, जाने-जहाँ, जाने-जाँ, जीवेश, जोग, ठाकुर, ठाकुरजी, तमोनुद, तोयात्मा, त्रयीमय, त्रिपाद, त्रिलोकपति, त्रिलोकी, त्रिलोकीनाथ, त्रिलोकेश, दई, दहराकाश, दीन-बन्धु, दीनबंधु, दीनबन्धु, दीनानाथ, देवेश, नाथ, नित्यमुक्त, परमपिता, परमात्मा, परमानंद, परमानन्द, परमेश्वर, प्रधानात्मा, भगवत्, भगवान, भगवान्, भवधरण, भवेश, मंगलालय, योग, योजन, वरेश, वासु, विधाता, विभु, विश्वंभर, विश्वधाम, विश्वनाथ, विश्वपति, विश्वपा, विश्वभर्ता, विश्वभाव, विश्वभावन, विश्वभुज, विश्वम्भर, विश्वात्मा, वैश्वानर, शून्य, सतगुरु, सद्गुरु, साँई, सांई